October 26, 2021

Akhilesh Yadav speaks on alliance with Shivpal Yadav says he will get honor and seen with SP again | अखिलेश से सवाल


कानपुर देहात: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की विजय रथ यात्रा (Akhilesh Yadav Vijay Rath Yatra) बुधवार देर शाम कानपुर देहात पहुंची थी. समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने बुधवार की रात कानपुर देहात में बिताई. वह सर्किट हाउस में ठहरे थे. यहीं मीडिया से बातचीत की और पत्रकारों के सवालों के जवाब दिए. एक पत्रकार ने पूछा कि चाचा शिवपाल सिंह यादव (Shivpal Yadav) समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के साथ गठबंधन करने के लिए आतुर दिख रहे हैं, क्या आप उनकी पार्टी प्रसपा से गठबंधन करेंगे? 

इसके जवाब में अखिलेश यादव ने कहा, ”चाचा शिवपाल का सम्मान रखा जाएगा और 2022 में वह समाजवादी पार्टी के साथ दिख सकते हैं, लेकिन यह समाजवादी लोग तय करेंगे.” इसके बाद अखिलेश यादव केंद्र की मोदी सरकार और राज्य की योगी सरकार की कमियां गिनाने में व्यस्त हो गए. उन्होंने कहा कि जिन योजनाओं को लेकर बीजेपी डंका पीट रही है, उनकी जमीनी हकीकत कुछ और है. बीजेपी उज्जवला योजना के माध्यम से गरीबों तक गैस सिलेंडर पहुंचाने की बात कर रही है, लेकिन हकीकत में गैस के बढ़ते दामों की वजह से गरीब गैस सिलेंडर भरवा नहीं पा रहा है और न ही सिलेंडर का उन्हें दर्शन हो पा रहा है. 

मुख्यमंत्री योगी ने धोए शक्ति स्वरूपा कन्याओं के पांव, हाथों से कराया भोजन, देखें PHOTOS

अखिलेश यादव ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने किसानों के साथ नौजवानों को भी धोखा दिया है. युवाओं को न रोजगार मिला और न किसानों को उनकी मेहनत का फल. भाजपा सरकार की गलत नीतियों के कारण महंगाई दिन प्रतिदिन चरम सीमा पर पहुंच रही है. सरकार महंगाई पर लगात लगाने में पूरी तरह नाकाम साबित हुई है. देश में पेट्रोल 100 रुपए लीटर के पार है, डीजल भी 100 के पार जाने वाला है. बीजेपी के सत्ता में काबिज होने के बाद यूपी में छोटे कारखाने, बड़े कारखाने गायब हो गए. उद्योग के नाम पर यूपी के साथ छल हुआ है.

यशपाल आर्य और बेटे की वापसी से कांग्रेस में शुरू हुई आपसी रार, इन नेताओं की बढ़ गई चिंता

बिजली संकट पर सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि किसी को नहीं मिल रही. ग्रामीण क्षेत्रों में तो और भी बुरा हाल है. वहां के लोगों को बिजली के दर्शन ज्यादा नहीं हो रहे हैं. बुंदेलखंड में अन्ना प्रथा समाप्त होनी चाहिए थी, जिसके लिए करोड़ों रुपये खर्च करने का दावा किया जा रहा है. लेकिन जमीन पर न तो काम दिख रहा है और न ही बीजेपी काम करती दिख रही है. यूपी में सड़कें गड्ढा युक्त हैं. सड़कों को गड्ढा मुक्त करने का दावा करने वाली भाजपा सरकार काम करना भूल गई. उन्होंने कहा कि सपा ​की विजय रथ यात्रा 2022 में यूपी से भाजपा का सफाया करने के बाद भी थमेगी.

WATCH LIVE TV